दिल्ली दुनिया का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर

साल 2021 से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी है और बीते वर्ष सबसे खराब वायु गुणवत्ता वाले दुनिया के 50 शहरों में से 35 शहर भारत के थे.

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2021 में भारत का कोई भी शहर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा निर्धारित वायु गुणवत्ता मानक (पांच माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पीएम-2.5 सांद्रता) पर खरा नहीं उतर सका.

उत्तर भारत की स्थिति सबसे खराब है. दिल्ली लगातार दूसरे वर्ष दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी है,

जिसमें पिछले वर्ष की तुलना में प्रदूषण लगभग 15 प्रतिशत बढ़ा है.

यहां वायु प्रदूषण का स्तर डब्ल्यूएचओ की सेप्टी लिमिट से  लगभग 20 गुना अधिक था, जिसमें वार्षिक औसत के लिए पीएम2.5 96.4 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था. सेफ्टी लिमिट 5 है. 

2021 में वैश्विक वायु गुणवत्ता की स्थिति का अवलोकन प्रस्तुत करने वाली यह रिपोर्ट, 117 देशों के 6,475 शहरों के पीएम 2.5 वायु गुणवत्ता डेटा पर आधारित है.

रिपोर्ट के मुताबिक सबसे प्रदूषित राजधानी शहरों में ढाका के बाद दिल्ली के दूसरे स्थान पर है, इसके बाद चाड में एन'जामेना, ताजिकिस्तान में दुशांबे और ओमान में मस्कट है. 

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 2021 में वैश्विक स्तर पर कोई भी देश डब्ल्यूएचओ के मानक पर खतरा नहीं उतरा और दुनिया के केवल तीन देशों ने इसे पूरा किया.