Sri Lanka Crisis

खस्ताहाल इकोनॉमी और भारी वित्तीय संकट के बीच फंसे श्रीलंका की तरफ एक बार फिर भारत ने मदद का हाथ बढ़ाया है.

भारत जल्द ही सहायता की एक और खेप के रूप में $2 बिलियन तक धनराशि की पेशकश कर सकता है.

साल 1948 में स्वतंत्रता के बाद से सबसे खराब आर्थिक संकट से जूझ रहा श्रीलंका लगातार दुनिया के संभ्रांत देशों (Elite Nations) से मदद के लिए गुहार लगा रहा है.

साथ ही श्रीलंका भारत और चीन सहित मित्र देशों से क्रेडिट लाइन, भोजन और ऊर्जा के लिए लगातार मदद की कोशिश कर रहा है.

रॉयटर्स सूत्रों के हवाले से ये भी दवा करता है कि श्रीलंका के साथ विभिन्न चर्चाओं से अवगत एक भारतीय सूत्र ने कहा, 'हम निश्चित रूप से उनकी मदद करना चाहते हैं 

रॉयटर्स ने ये भी स्पष्ट किया है कि भारत ने अब तक श्रीलंका को लोन, क्रेडिट लाइन और मुद्रा अदला-बदली में 1.9 बिलियन डॉलर देने की सहमति जताई है.

सूत्रों के मुताबिक भारत श्रीलंका के साथ अपने रिश्तों में और मजबूती लाना चाहता है

वहीं चीन के कर्ज के स्तर को कम करके पड़ोसी देश के नाते श्रीलंकाई जमीन पर अपनी मजबूत भागीदारी बनना चाहता है.